« »

क्रिकेट का है नया जमाना

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

क्रिकेट का है नया जमाना
out होने पर ना कोई जुर्माना

Advertisement पर इनको पैसे जो है कमाना
कूचं ना हो तो पीठ दर्द का है बहाना

सोमवार से शनिवार तक इनको है खेलना
रविवार का भी कूचं नही है केहना

हार गये तो pitch था खराब
जीत गये तो खुभ इनका रुबाब

फिर भी सबको येह बहुत है प्यारे
Team India को हम सब है सहारे

4 Comments

  1. jayvant jadhav says:

    BEST POEM

  2. Akshu says:

    Too good.

  3. I am lucky that I detected this site, precisely the right info that I was searching for!

Leave a Reply