« »

प्रभु जी मेरे स्वामी..!!

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

bhajan

मेरे दोस्तों , मैंने एक भजन लिखा है । और आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूँ , यदि आपको पसंद आता है तो मै आपका समर्थन चाहूँगा

 

मेरे प्रभु जी तुम मेरे स्वामी ,

मै दास   तू     अन्तर्यामी । 

तेरे द्वारे मै तब आया ,

जब ठोकर पग पग खाया ।

मैंने दुःख में सुमिरा तुझको ,

नही सुख में ध्यान लगाया ।

मन में नही मूरत तेरी ,

माया में थी नीयत मेरी ।

मैंने लोभ किया बस धन का ,

नही ध्यान किया एक छन  का ।

मै तो हूँ बस अज्ञानी ,   

 मै दास   तू  अन्तर्यामी ।

तेरे द्वारे जो भी आए ,

रोता  हुआ भी हंस जाए। 

जो अंतर्मन से सुमिरे,

तू दर्शन भी दिखलाये।

बालक हम तेरे विधाता,

क्या मांगू मै मेरे दाता।

तुझे नित-नित शीश झुकाऊ,

बिन मांगे सब कुछ पाऊ ।

सद्बुद्धि   दो मेरे स्वामी ,

मै दास  तू अन्तर्यामी ।
 
SHREYA TIWARI,  MUMBAI

4 Comments

  1. dolly dubey says:

    madhur swar-lehri me prabhu ka bhajan sun kar mann prafullit hua…..bahut hi sundar bhajan aur bahut hi khubsurat aawaz……………god bless u dear.

  2. Vishvnand says:

    बहुत मनभावन भक्तिगीत एवं भजन और podcast में बहुत ही सुन्दर भावपूर्ण प्रस्तुति .
    रचना के भक्तिभाव में बहुत सुकून,
    इस posting पर और इसको share करने के लिए हार्दिक धन्यवाद.

    • ck goswami says:

      “Tu hai bhakta niraala shreya ,tu hai bhakta nirala
      kripa karenge tujh par shreya dekho deen dayala
      prabhu naam ki jabse tune pheri jap ki maala
      dayadrishti payee hai tab se,khush ho gaye gopaala
      bhajan gungunaye sab jan padhke aisa kya kar daala
      dhoondh rahe hain ham sab milkar kahan hai murliwala”

  3. rajdeep says:

    fantastic

Leave a Reply