« »

ज़ीरो (Zero) की अवस्था और समस्या ….!

2 votes, average: 3.50 out of 52 votes, average: 3.50 out of 52 votes, average: 3.50 out of 52 votes, average: 3.50 out of 52 votes, average: 3.50 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

ज़ीरो (Zero) की अवस्था और समस्या ….!

वैसे सच है जब हम सच्चे प्यार में एक दूजे के करीब होते हैं
तो बस प्यार ही साथ होता है, कोई सोच विचार कहाँ होते हैं,
बस तुम होती हो हिरोइन और हम होतें हैं हीरो
दोनों पास पास बैठ प्यार में बन जाते हैं सम्पूर्ण ज़ीरो
और सारी चिन्ताएँ, आशाये और विचार भी हो जाते हैं मानो बिलकुल ज़ीरो ….

पर हम भूल जाते हैं हर बार यही प्यार और यही सुन्दर ज़ीरो अवस्था
और होने लगती है इकदूजे से अनबन और रुसवाई जब घेरे ये दुनियादारी की अवस्था
तब कैसे ये अपनी ऊंची समझदारी की समझ भी हो जाती है ज़ीरो जैसी समस्या
हम झगड़ने लगते हैं और लोग कहते हैं “भई कुछ तो जरूर है इनके ‘प्यार’ में समस्या…!”

—- xxx —

14 Comments

  1. rachana says:

    Hi Vishwa nand jee,

    I didn’t get the meaning of jheero…is it zero?

    • Vishvnand says:

      @rachana
      Yes, it is Zero or शून्य.
      That was the only way I could write Zero in Devnaagari.
      I should have clarified it while posting. But now I have added the clarification in the title.
      Thanks.

      • rachana says:

        @Vishvnand,

        vishwa naand jee..

        I believe…it can be written liek this…ज़ीरो..!

        • Vishvnand says:

          @rachana
          आप सही हो. झीरो से ज़ीरो, Zero के लिए ज्यादा पास और उचित है. मैंने सुधार दिया है. सुझाव के लिए बहुत शुक्रिया

  2. vpshukla says:

    vishv ji! vichar shunyata ki sthiti me hi yog hota hai.zero ka rahana shayad shadi ke liye bhi uchit hai.

    • Vishvnand says:

      @vpshukla
      सत्य और उपयुक्त कथन. बहुत शुक्रिया.
      माना जाय तो ज़ीरो ही तो असली हीरो होता है. उससे भागकर हम उसी को पाना भी चाहते हैं … 😉

  3. parminder says:

    जी हाँ, डेटिंग तो एक अलग ही शुगल है, पर शादी के बाद ही तो असली जुगल है 🙂
    सही फरमाया सर जी !

    • Vishvnand says:

      @parminder
      आपकी सुन्दर प्रतिक्रिया का सुन्दर स्वागत….

  4. seema sahaa says:

    627 Poems!!! The epitome of Passion for poetry!! You sure are an inspiration to some one like me!!Keep going!! I do catch up with your poems whenever I can.

    • Vishvnand says:

      @seema sahaa
      So very nice, hearty and delightful is your comment. Thank you so very much for this kind gesture which I heartily reciprocate with deeply felt gratitude.
      I am earnestly looking forward to when you will re-commence posting your beautiful poems at our site to also give us joy and share your joy of poetic creations..

  5. ashwini kumar goswami says:

    As a poetic hero, you can well jump over zero ! What a frolicsome jump !
    You did something splendid, Sir ! Why not stars ?

  6. Sanjay singh negi says:

    aaj muje pyar ki ek or avstha ka pata chal gaya hai
    zero avashtha
    vah nice poem

    • Vishvnand says:

      @Sanjay singh negi
      आपकी इस मनभावन प्रतिक्रिया के लिए हार्दिक धन्यवाद.

Leave a Reply