« »

चुटकी पांच

1 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 51 vote, average: 4.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry
चुटकी पांच
विज्ञापन की भाषा बनी तमाशा
 
“सुन्दर ,सुशील,सुशिक्षित
गौरवर्ण,गृहकार्य में प्रशिक्षित
कन्या की आवश्यकता है एक योग्य वर को
इच्छुक बहने पत्र व्यवहार करें”
 
 ऐसे  वैवाहिक विज्ञापन के उत्तर में 
जवाब  आया
“रक्षा बंधन अभी दूर है इंतज़ार करें 
 
————सी के गोस्वामी (जयपुर ) 

14 Comments

  1. U.M.Sahai says:

    बहुत अच्छे गोस्वामी जी, 100th कविता लिखने पर हार्दिक बधाई.

    • c.k.goswami says:

      @U.M.Sahai, धन्यवाद्.वैसे तो १०० कवितायेँ हो गयी किन्तु मेरे अनुसार लगभग ७०-७५ कवितायेँ ही पूर्ण हैं शेष में संपादन की जरुरत थी या मेरे अनुसार वो पूरी न थी.१०० कवितायेँ तब पूर्ण होगी जब मुझे संतोष मिल जायेगा. आपकी शुभकामनाओं के लिए फिर से धन्यवाद.

  2. siddhanathsingh says:

    चुटकी और वो भी भरपूर.

    • c.k.goswami says:

      @siddhanathsingh, जब दूल्हा शालीनता का परिचय देकर हर औरत में अपनी माँ बहन देखेगा तो जवाब यही मिलना था.
      बहर्पूर चुटकी के लिए धन्यवाद् को स्वीकार किया सिंह साहिब.

  3. Vishvnand says:

    Nice practical joke of and on the modern times
    याद आया,
    Ad थी ” A middle aged bachelor needs a wife. Should be beautiful and experienced in looking after the house & be a nice companion to the husband’
    उसे बहुत response मिले, मगर पुरुषों से, जिसमे लिखा था ” You can have mine”

  4. ashwini kumar goswami says:

    उत्कृष्ट व्यंग्यात्मक चुटकी ! ४-सितारे न्यूनतम !

  5. prachi sandeep singla says:

    nice humour 🙂

  6. Raj says:

    Hilarious. Liked it.

  7. Sanjay singh negi says:

    🙂
    kya jok hai
    wah wah wah
    mere to hans hans ke aanshu aane lage hai
    or joke ko chutki
    kahana atyant baya

    • c.k.goswami says:

      @Sanjay singh negi, क्षणिकाएं तो आप पढ़ते ही रहते हैं .”चुटकी”वो क्षणिका है जो व्यंग्य से भरी होती है और जसमे कटाक्ष का थोडा सा पुट होता है. आपको पसंद आयी -शुक्रिया.

Leave a Reply