« »

*****आँखों में मेरी तुम तो आँसू बनजाते हो …

1 vote, average: 2.00 out of 51 vote, average: 2.00 out of 51 vote, average: 2.00 out of 51 vote, average: 2.00 out of 51 vote, average: 2.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry
आँखों  में  मेरी  तुम  तो  आँसू बनजाते हो   
दिल में मेरे तुम तो  धड़कन  बनजाते हो  
 
साँसों   में  मेरी  तुम  तो  हर पल रहेतें हो
रूह  में मेरी तुम तो लहू बनके बहेते हो
 
याद आते हो ,तडपाते हो,रुलाते हो, हँसाते हो,
तुम  इतना याद आते हो  सबको भूलातें हो 
 
चाहत में तुम्हारी  तुम तो बहोत तड़पाते हो
प्यार में तुम्हारे तुम तो  दीवाना बनाते हो
 
तन्हाई में मेरी तुम तो  गम  बनजाते हो 
सपनो में मेरे तुम तो रातो की नींदे उड़ाते हो
 
जिंदगी में मेरी तुम तो  सहारा बनजाते हो 
मेरे अरमानो के कभी तुम तो खुदा बनजाते हो
 
“किशन”  

2 Comments

  1. Sangeeta Mundhra says:

    A good attempt. Need to work on the maatras.

Leave a Reply