« »

एक कहानी

4 votes, average: 4.50 out of 54 votes, average: 4.50 out of 54 votes, average: 4.50 out of 54 votes, average: 4.50 out of 54 votes, average: 4.50 out of 5
Loading...
Anthology 2013 Entries, Crowned Poem, Hindi Poetry

कुछ पल बेठो पास, एक सुनाऊ कहानी
सदियों बीत जाये या जन्मो, न होगी कभी पुरानी
खुली आँखों के ख्वाब सच हुए थे जब
आज वो घडी फिर से आयी है
कुछ साँसे और जुडी थी मुझ में
वो यादे दोहराई है
आज ही के दिन किसीने पहली बार मेरा हाथ थामा था
और किसे कहते है प्यार, ये मैंने जाना था
आज ही के दिन मैंने पहली बार सोलह सिंगार सजाये थे
सच कहती हूँ पहली बार मेरे नैना खुद से ही शरमाये थे
पहली बार किसीने मेरे साथ कदम बढ़ाये थे
उस पल दिल में न जाने कितने तूफ़ान आये थे
पहली बार किसीकी की फ़िक्र मन को छू सी गयी थी
और उस मजबूत पर प्यारी पकड़ में कहीं खो सी गयी थी
पहली बार कोई मेरे इतने करीब आया था
की सौंप दिया खुद के पुरे वजूद को ऐसे
नदी ज्यों बेफिक्र हो जाए सागर में जैसे
मेरे हाथों पे मेहँदी उसके नाम की थी
जिसकी तलाश में उम्र तमाम जी थी
उसके प्यार में की खुमारी कुछ ऐसी है
की अबतक की पूरी जिंदगी बेहोशी में गुजारी है
उसकी पलकों ने हर पल मुझपे छाँव बनायीं है
और उसी के हाथों के सिरहानो पर
मैंने हर रात ली अंगडाई है
वो इस कदर मुझ में समाया है
कोई और नहीं
       मैं उसकी या वो खुद मेरा साया है
राज की एक बात बताऊँ
नहीं चाहती की मेरी इस कहानी पर अंत का कहर हो जाए
खूबसूरत रात की सहर हो जाए
केवल इसीलिए इसे कविता के पलने में सुलाया है
बस,
अब गीतों की डोरी हमेशा इसे झुलायेगी
और हर घडी उसके साथ गुनगुनायेगी
ख़त्म होजाए चाहे सारा जहाँ
इस कहानी की गूंज
हमेशा-हमेशा के लिए अमर हो जायेगी.

written on my wedding anniversary.

9 Comments

  1. Vishvnand says:

    Too beautiful and too ecstatic
    feelings expressed excellently & poetic
    Liked the poem immensely
    to be read often & happily…

    Kudos for the poem

    • kshipra786 says:

      @Vishvnand, धन्यवाद सर मैं चाहे कितने भी वक़्त बाद उपस्थिति दूँ आपका आशीर्वाद हमेशा ख़ुशी देता है

  2. Harish Chandra Lohumi says:

    अच्छी अभिव्यक्ति !
    बनी रहे ये जोरी ।
    शुभकामनाएँ !!!

  3. rajivsrivastava says:

    nice presentation ,aap ki kuushiya isi tarah mahakti rahi——– aap ke pyar ke chaman main nit naye phool khilte rahe———badahai

  4. parminder says:

    बहुत बधाई आपको! इतनी सुन्दर अभिव्यक्ति भावों की शब्दों में ! ईश्वर हमेशा खुशिओं को बरकरार रक्खे!

  5. prachi sandeep singla says:

    itz brilliant 🙂 wish u both a veryyy blissful life ahead now nd alwaz…. take care 🙂

Leave a Reply