« »

जो वो रोये तो हंगामा हो गया

3 votes, average: 3.00 out of 53 votes, average: 3.00 out of 53 votes, average: 3.00 out of 53 votes, average: 3.00 out of 53 votes, average: 3.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

जो वो रोये तो हंगामा हो गया
हम रोये तो किसी को खबर न हुई

गिला नहीं कि मुझे यार ने क़त्ल किया
गिला है कि उसे प्यार की खबर न हुई

शिकवा करूँ भी तो क्या करूँ रकीब से
कमबक्त जिंदगी मुझसे ही बसर न हुई

ताउम्र देखता रहा औरों की गलतियाँ
खुद की गलतियाँ पर कभी नज़र न हुई

8 Comments

  1. rajivsrivastava says:

    kya khoob likha hai!maja aa gaya–badahai

  2. Vishvnand says:

    वाह, बहुत अच्छे , बधाई
    और लिखिए

    झक मारी और किया इश्क
    उनके गुनाहों पर नज़र न हुई ….

  3. parminder says:

    बहुत बढ़िया!
    किसी की गलतियां क्या सही करेंगे हम,
    हमसे ही कोई बात सही न हुई!

  4. anju singh says:

    badiya rachana . shubhkamanye

Leave a Reply