« »

जब तुम आओगे पिया

1 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 51 vote, average: 3.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

जब तुम आओगे पिया

जब तुम आओगे पिया,
झूम उठेगा मेरे मन का जिया,
फ़िज़ा में बहार  आ जाएगी,
ज़िंदगी महक जाएगी.

जीवन की अंधेरी रात का कभी तो सवेरा होगा,
तेरे इंतज़ार का कभी तो अंत होगा,
जल्ते बदन को कभी तो तेरी बाहों का सहारा मिलेगा.
जब तुम आओगे पिया,
……

बेजान आँखों में कभी तो चमक आएगी,
दर्द भरी आहें मेरी कभी तो थम जाएँगी,
बेक़रार दिल को कभी तो चैन आएगा.
जब तुम आओगे पिया,
…….
बुझे हुए चेहरे पे नूर आ जाएगा,
तड़पते हुए मन को चैन आ जाएगा,
सुलगते दिल में खुशीओं की तरंगें लहराएँगी.

जब तुम आओगे पिया,
झूम उठेगा मेरे मन का जिया,
फ़िज़ा में बहार  आ जाएगी,
ज़िंदगी महक जाएगी.
जसपाल कौर 11/1/11 11:00 a.m.


Leave a Reply