« »

भ्रष्टाचार की चकाचोंध में मेरी आँखें फिर धोखा kha गयी

2 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 5
Loading...
Hindi Poetry
भ्रष्टाचार की चकाचोंध में  मेरी आँखें फिर धोखा kha गयी
जिसे में दो बुरों में कम समझता था,वो भी,लूटने का मौका पा गयी
दोनों हाथों से उसने भी खूब खनन किया
तब जा कर मैंने भी मनन किया
दोनों एक ही थैली के चट्टे बट्टे हैं
दोनों ही मुफ्त का माल खा रहे हट्टे कट्टे हैं
एक आज़ादी के बाद से लगातार लूट रहा है
दूसरा दो सालों में कर्णाटक में चांदी कूट रहा  है
कांग्रेस न भली है और न ही है भली भाजपा 
डी एम् के की बाप निकली मायावती की बसपा 
नोएडा और एन आर एच एम् पर अब गया लोगों का ध्यान
जहाँ सरकार बिल्डर मज़े मारते और रो रहा किसान
आदर्श घोटाला हो या कोमंवेल्थ की कमाई
टू जी स्केम्म की मलाई इन नेताओं ने  ही खाई
भला हो इस न्यायपालिका का जो अब तक जिन्दा है
पर इन घोटालों को देख कर वो भी शर्मिंदा है
 बाबा रामदेव के अनशन ने क्या कर लिया
लाठिया खाई और मुह बंद कर लिया
अब अन्ना की बारी आयी है ,क्या होगा हम मुर्दों के देश में
जहाँ हम सब कायर घूम रहे हैं देशभक्तों के वेश में
टी वी देख ,अखबार पढ़ हम चर्चा तो बहुत करते हैं
पर सरकार का विरोध करने से हम भी डरते हैं
जब तक हम सब इस भ्रष्टाचार की लडाई में आगे नहीं आयेंगे
ये राजनेता देश को य़ू ही लूटते जायेंगे
इक थैली के चट्टे बट्टे ————-सी के गोस्वामी  JAIPUR

3 Comments

  1. s.n.singh says:

    kaash shabd jagrit kar paate sabka maraa jameer
    dhan ko yen ken thagne se bachte agar ameer
    shayad hota bhala desh ka apne geeta vale.
    shayad yon apavitra n hota paavan ganga teer.

  2. Vishvnand says:

    बहुत सुन्दर प्रभावी उद्येश्यपूर्ण सामयिक रचना
    सीधे शब्दों में है ये बहुत अर्थपूर्ण सबको झकझोरना
    जाने कितने दिनों बाद हुआ है चंद्रकांत जी आपका ये सुहाना आना
    चाहूँगा अब आप यूं ही आते रहिये मत ढूँढिये न आने का कोई भी बहाना
    लगता है अब जनता जाग गयी है और जान गयी है इनका सारा फसाना
    और हम सब जनता जल्द ही आन्दोलन में एक हो लगायेंगे इन सारे दुष्टों का साथ मिलकर ठिकाना …

    Stars 4 +++

  3. ashwini kumar goswami says:

    अत्यंत प्रभावशील एवं जागृति लाने वाली कृति हे ये ! ५-सितारे न्यूनतम !

Leave a Reply