« »

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं ….!(Geet)

1 vote, average: 5.00 out of 51 vote, average: 5.00 out of 51 vote, average: 5.00 out of 51 vote, average: 5.00 out of 51 vote, average: 5.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry, Podcast

Am  happy to share an old composed situational song(Geet) posted sung in its new podcast.
The singer is performing in a gathering. His  beloved has fought  & deserted him due to some misunderstanding and is absent from the gathering where he is singing this song.

  

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं ….!

आज महफिल में तुम तो नहीं,
पर ये दिल है, तुम्ही हो वहीं,

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं,
चाहो सुनना या सुनना नहीं…
आज महफिल में तुम तो नहीं ….!

याद आते हैं दिन वो मुझे,
साथ जब हम थे मिलकर चले,
कितने प्यारे थे दिन वो मेरे,
जिनमे हम दोनों थे खो गए ….!

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं,
चाहो सुनना या सुनना नहीं….
आज महफिल में तुम तो नहीं ….!

भोली आँखें तेरी हैं भली,
इनमे दुनिया है मुझको मिली,
प्यार में तेरे जादू ये क्या,
दिल ये अपना न अपना रहा ….!

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं,
चाहो सुनना या सुनना नहीं ….
आज महफिल में तुम तो नहीं ….!

ना तुझको मैं समझा सका,
प्यार तेरा था सबकुछ मेरा,
वो तो अब भी मेरे साथ है,
दूर जाना हुआ जो तेरा ….!

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं,
चाहो सुनना या सुनना नहीं….
आज महफिल में तुम तो नहीं ….!

गीत गाऊँगा तेरे ही मैं,
दूर कितनी भी और हो कहीं,
आ के दिल में समा जा मेरे,
और अब दूर जाना नहीं ….!

गीत गाता हूँ तेरे ही मैं,
चाहो सुनना या सुनना नहीं
आज महफिल में तुम तो नहीं ….!

” विश्व नन्द ”

6 Comments

  1. siddha Nath Singh says:

    sundar saral geet bahut kuchh bahut khoobsoorati se kahta hua.

  2. rajdeep says:

    manbhavak rachna

  3. Sir,
    Very beautiful heart rending lyrics that pulled at the soul strings . So touching !!!!
    Loved the lines ‘ Yaad aate hai din woh mujhe// saat ham they milkar chalay…..
    sarala.

Leave a Reply