« »

चुराए दिल जो उसी नाजनीं की बात करें

2 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 52 votes, average: 4.50 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

 

न दिल का जिक्र न दीवानगी की बात करें..

 

कहें वो, दर्द छिपायें  , हंसी की बात करें .

 

 

 

किसी नज़र में उमंगें, न वलवले, न ललक

 

यहाँ पे कैसे भला ज़िन्दगी की बात करें

 

 

 

जब उसका जिक्र छिड़े ज़ख्म हो उठें ताज़ा,

 

यही है ठीक किसी अजनबी की बात करें .

 

 

 

बहुत हुई ये गुलों, बुलबुलों की अक्कासी ,

 

सुखनफरोशों! चलो  आदमी की बात करें .

 

 

 

तेरे जमाल का चर्चा करें भी हम क्योंकर,

 

है हुक्म सिर्फ यहाँ सादगी की बात करें .

 

 

 

हरेक रुख में तुम्हारा ही रंग है अक्सां,

 

खुदी की बात  करें, बेखुदी की बात करें .

 

 

 

हटायें  बात परे सब फ़िज़ूल दुनिया की,

 

चुराए दिल जो उसी नाजनीं की बात  करें .

 

5 Comments

  1. rajendra sharma'vivek' says:

    Kah rahi sahi baat ye gajal hanshi hasin mulaakaat kare
    pareshaaniyaa hai bahut hansi kushi ki baat kare

  2. Vishvnand says:

    वाह वाह
    बहुत खूबसूरत बातें हैं हर शेर में
    हमारी बात तो वो न कुछ भी बात करें

  3. chandan says:

    बहुत बहुत खुबसूरत

Leave a Reply