« »

***भरी भीड़ में भी ……..***

2 votes, average: 3.00 out of 52 votes, average: 3.00 out of 52 votes, average: 3.00 out of 52 votes, average: 3.00 out of 52 votes, average: 3.00 out of 5
Loading...
Hindi Poetry

भरी भीड़ में भी ……..

भरी भीड़ में भी ……..ये दिल उदास रहता है

….खल्वातों में भी यहाँ कोई आस पास रहता है

………..उनकी मखमूर नज़रों के ..हम असीर हो गए

………………..दिल हमारा आजकल उनके दिल में रहता है

सुशील सरना

6 Comments

  1. S N SINGH says:

    aap ko kaise khabar lagi sarna sahab!

  2. Komal Nirala says:

    waah.., waah..!
    bahut khoob…! 🙂

Leave a Reply