«

0 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 50 votes, average: 0.00 out of 5
Loading...
Uncategorized

मैं अपने दिल की हसरत को…..

मैं अपने दिल की हसरत को, सुनाने आज आया हूं,
मुहोब्बत तुमसे है कितनी, बताने आज आया हूं,
इशारे पे तेरे एक दिल, मैं कदमो में तेरे रख दूं,
भरोसा तुझको मेरी जां, दिलाने आज आया हूं…

अगर तुम चांदनी हो तो, तपन सूरज की मैं भी हूं,
अगर तुम रौशनी हो तो, जलन दीपक की मैं भी हूं,
छांव बन जाओ तुम मेरी, मैं कोई पेड़ बन जाऊं,
मीठे फल सबको मैं दुंगा, बताने आज आया हूं….

मैं तेरा हूं तू मेरी है, यकीं की बात है दिलबर,
हमेशा ही थी परदों में, मिलो तुम आज तो खुलकर,
रिवाजों रस्मों के बंधन, छुड़ाने आज आया हूं,
छुड़ाकर हाथ बाबुल का, मैं अपना हाथ लाया हूं….

न तुझको गम न मुझको गम, है कुछ पाने और खोने का,
भरी है नाव जीवन की, खजाना हंसने रोने का,
खजाना अपने जीवन का, लुटाने आज आया हूं,
तेरे संग जिंदगी अपनी, बिताने आज आया हूं….

डॉ. योगेश पालीवाल
अकोला, महाराष्ट्र

Leave a Reply